Tuesday 28th Jun 2022
खेल

‘टोक्यो ओलंपिक’ में भारत के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण रहा

‘टोक्यो ओलंपिक’ में भारत के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण रहा

जापान में चल रहे ‘टोक्यो ओलंपिक’ में भारत के लिए आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण रहा। पुरुष हॉकी दल ने 41 वर्षों के पश्चात कांस्य पदक पर अपना नाम अंकित कर इतिहास रचा। वहीं दूसरी तरफ़ कुश्ती में रवि दहिया द्वारा रजत पदक हासिल किया गया, पर आज हुई इस जीत के बाद उनका स्वर्ण पदक जीतने का सपना बिखर गया।

पुरुषों की कुश्ती के 57 किग्रा भार वर्ग के समापक खेल में रवि दहिया का मुकाबला रूसी ओलंपिक समिति के पहलवान जावुर युवुगेव से था, युवुगेव ने दहिया को 7-4 से परास्त कर अपने उत्तम खेल की प्रस्तुति की।

युवुगेव ने आरंभ में अंक अर्जित किये परंतु दहिया द्वारा अविलंब ही अंक 2-2 कर दिये गए। युवुगेव ने दोबारा से अच्छा प्रदर्शन करते हुए बढ़त हासिल कर ली। रवि प्रथम राउंड के पश्चात 2-4 से पिछड़ गए तथा दूसरे राउंड में भी युवुगेव ने 1 अंक लेकर खेल में अपनी पकड़ पक्की की। दूसरे राउंड में भी रवि दहिया द्वारा 2 अंक ही हासिल किये गए।

वहीं दूसरी तरफ  86 किलो भार वर्ग वाली कुश्ती के खेल में दीपक पूनिया ने नाउम्मीद किया तथा कांस्य पदक पर अपनी पकड़ से बनाने से रह गये। उन्हें सैन मैरिनो के नज्म माइलेस अमीन ने 4-2 से पराजित किया। भारत की ओर से ‘टोक्यो ओलंपिक’ खेलों में निशानेबाज़ी करने वाले अभिनव बिंद्रा निजी स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा करने वाले वैयक्तिक खिलाड़ी बने।