Tuesday 28th Jun 2022
जीवनधारा

गंगासागर के कपिल मुनि मंदिर में मंडरा रहा खतरा, डर है पहले की तरह समुंद्र में न समा जाए मंदिर

गंगासागर के कपिल मुनि मंदिर में मंडरा रहा खतरा, डर है पहले की तरह समुंद्र में न समा जाए मंदिर

बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के अंतर्गत गंगासागर तट पर स्थित कपिल मुनि मंदिर पर मंडरा रहा है फिर से समुंद्र का खतरा। समुद्र तट से मंदिर की दूरी अब सिर्फ 300 से 350 मीटर रह गई है। मिली जानकारी के अनुसार प्रति वर्ष समुंद्र का पानी 100 से 200 के क्षेत्रों को अपने अंदर समाता जा रहा है।

और पढ़िए – फिरहाद हकीम के प्रियंका पर प्रश्न उठाने पर दिलीप ने कहा ‘ममता बनर्जी को कौन जानता था?’

आपको जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले भी 1970 के दशक के शुरुआती सालों में यहां स्थित मूल मंदिर को समुंद्र ने अपने आगोश में ले लिया था। उस मंदिर में स्थापित कपिल मुनि की मूर्ति को वर्तमान मंदिर में लाकर प्रकाश प्रतिष्ठापित किया गया है और अब इस मंदिर पर भी समुद्र के पानी का खतरा मंडरा रहा है।

और पढ़िए – मुख्यमंत्री से बनी मां दुर्गा, गणेश उत्सव पर स्थापित प्रतिमा को लेकर मचा राजनीति बवाल

इधर, कपिल मुनि मंदिर के महंत ज्ञानदास जी महाराज के उत्तराधिकारी संजय दास ने कहां की यह बहुत चिंताजनक स्थिति है इस पर गंभीरता से ध्यान देने की जरूरत है। इस समस्या का समाधान अकेले राज्य सरकार नहीं कर सकती इसमें केंद्र सरकार को भी सहयोग करना होगा। नहीं तो आने वाले दिनों में कपिल मुनि मंदिर समुद्र में समा जाएगा।

और पढ़िए – भवानीपुर उपचुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज,प्रियंका ने चुनाव प्रचार का किया श्री गणेश