Tuesday 28th Jun 2022
Slider

सावन का सोमवार शिव भक्तों के लिए रखता है विशेष महत्व, जानिए क्यों?

सावन का सोमवार शिव भक्तों के लिए रखता है विशेष महत्व, जानिए क्यों?

सावन के पवित्र महीने की शुरुआत हो चुकी है। हिंदू धर्म में सावन महीने का बहुत बड़ा महत्व है। यह महीने भगवान भोलेनाथ को अत्यंत ही प्रिय है, जिस कारण इस पूरे मास में भगवान शिव की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। सावन महीने के सोमवार का बहुत अधिक महत्व होता है क्योंकि भगवान भोलेनाथ कि दिन सोमवार होता है।

शिव भक्तों के लिए यह महीना अपने आराध्य देव की भक्ति और उनकी कृपा पाने के लिए विशेष होता है। इस महीने में भोलेनाथ की पूजा करने और शिवलिंग पर जल चढ़ाने से सभी तरह की मनोकामनाएं अवश्य पूरी होती है।

सावन के महीने में भगवान भोलेनाथ की पूजा विशेष तरीके से की जाती है। विधि पूर्वक पूजा करने से भगवान भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और मनवांछित फल प्रदान करते हैं। सावन के सोमवार के दिन सुबह जल्दी स्नान आदि कर घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें। इसके बाद शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर गंगाजल और दूध के साथ धतूरा बेलपत्र, पुष्प, गन्ना आदि अर्पित करें। इसके साथ ही भगवान की प्रिय चीजों से भोग लगाएं, शिव आरती करें, शिव चालीसा और शिव के 108 नामों के साथ इस मंत्र का जाप करें ‘ॐ नमः शिवाय’

सावन के महीने में शिव भक्तों द्वारा कांवर यात्रा का आयोजन किया जाता है। जिसमें भक्त प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग के दर्शन कर उन्हें गंगाजल अर्पित करते हैं। सावन महीने में ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने से सभी तरह की मनोकामनाएं पूरी होती है। हर वर्ष हजारों की तादाद में लोग बाबाधाम, तारकेश्वर और अमरनाथ जैसे पवित्र स्थानों में जाकर भोलेनाथ को गंगाजल से अभिषेक करते हैं,लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण पिछले साल से ही इन पवित्र स्थानों पर पाबंदी लगा दी गई है। फिर भी भोलेनाथ के भक्त अपने निकट के मंदिर में जाकर बाबा की पूजा अर्चना कर रहे हैं।