Tuesday 28th Jun 2022
स्वास्थ

कोलकाता में डेंगू और मलेरिया ने मचाया हाहाकार, डॉक्टरों में बढ़ी चिंता

कोलकाता में डेंगू और मलेरिया ने मचाया हाहाकार, डॉक्टरों में बढ़ी चिंता

बंगाल में अभी कोरोना संक्रमण के दूसरे लहर का खतरा पूरी तरह समाप्त ही नहीं हुआ की डेंगू और मलेरिया ने अपना प्रकोप दिखाना प्रारंभ कर दिया है। एनवीबीडीसीपी (नेशनल वेक्टर बोर्न डिजिज कंट्रोल प्रोग्राम) के आंकड़ों की माने तो इस वर्ष जून तक राज्य में मलेरिया के कुल 1413 मामले सामने आ चुके हैं। जो स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों व डॉक्टरों के लिए चिंता का विषय बनती जा रही है।

आप इस स्थिति से भलीभांति अवगत होंगे कि सितंबर मास में डेंगू और मलेरिया का प्रकोप प्रतिवर्ष बढ़ जाता है। गत वर्ष इसी बीमारी ने लगभग कई लोगों की जान ले ली थी। इस वर्ष भी पुनः इसके लक्षण प्रकट होने प्रारंभ हो गए हैं। जिसे देखते हुए राज्य में स्वच्छता व जागरूकता अभियान बढ़ा दिया गया है और लोगों को भी सतर्क रहने को कहा गया है।

इधर, वरिष्ठ चिकित्सक डॉक्टर एसके अग्रवाल ने जानकारी देते हुए कहा कि फिलहाल राज्य में डेंगू के कुछ ही मामले सामने आए हैं। परंतु टाइफाइड और मलेरिया के मामले में बढ़ोतरी देखी जा रही है। ऐसे में लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है। लोगों को जरूरत है कि जलजमाव न होने दें, अपने आसपास में साफ सफाई रखें और खान-पान का ध्यान रखें।